May 31, 2023

Haridwar Lokmat

All News In Seconds

धार्मिक मामलों में हस्तक्षेप का किसी को अधिकार नहीं- स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद

1 min read

भाजपा को जीत दिलाने वाले पूर्व मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को मिले फिर मौका
स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद ने दी भाजपा को शुभकामनाएं
धार्मिक मामलों में हस्तक्षेप का किसी को अधिकार नहीं-स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद

हरिद्वार, 12 मार्च। शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती महाराज के शिष्य स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद महाराज ने उत्तराखण्ड विधानसभा चुनाव में जीत मिलने पर भाजपा को बधाई दी। कनखल स्थित शंकराचार्य मठ में स्वामी मुक्तेश्वरानंद महाराज ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि भाजपा जनता का विश्वास जीतने में कामयाब रही है। जिसके चलते चार राज्यों में जनता ने भाजपा को पुनः सरकार बनाने का अवसर दिया। उत्तराखण्ड में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के नेतृत्व में भाजपा को शानदार जीत मिली। हालांकि वे अपनी सीट हार गए। संभवतः प्रदेश की सभी सीटों पर ध्यान देने के चलते अपनी स्वयं की सीट पर अधिक ध्यान नहीं दे पाने की वजह से वे चुनाव हार गए। लेकिन धामी युवा व ऊर्जावान नेता है। लंबे समय तक जनता की सेवा करेंगे। इसलिए उन्हें एक बार फिर मुख्यमंत्री बनाया जाना चाहिए। पत्रकारों द्वारा उत्तराखण्ड में यूनिफार्म सिविल कोड लागू किए जाने की चर्चाओं पर उन्होंने कहा कि वे इससे सहमत नहीं हैं। इसका सर्वाधिक नुकसान हिन्दुओं को ही होगा। धार्मिक मामलों में हस्तक्षेप का किसी को कोई अधिकार नहीं है। सबको अपने धर्म के अनुसार जीने का हक है। उन्होंने कहा कि आपराधिक मामलों में समान कानून की व्यवस्था पहले से ही लागू है। अपराध करने वाला किसी भी धर्म से संबंधित हो। सभी पर समान धाराओं के अंतर्गत ही कार्रवाई की जाती है। इसलिए धार्मिक मामलों मंें हस्तक्षेप नहीं किया जाना चाहिए। इस अवसर पर ब्रह्मचारी श्रवणानंद, ब्रह्मचारी सर्वभूत हृदयानंद, ब्रह्मचारी मुकुंदानंद, ब्रह्मचारी रामानंद, सचिन गौतम, पंकज दास, रवि, सुदीप अग्रवाल आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights reserved. | Williams Technologies | Newsphere by AF themes.